Sharing planet, sharing languages, sharing cultures

Paris की un Soir

27 Jul 2010 Paris की un Soir, Une नार, बार बार करे हमको Voir, हम ने भी कर ली yeux चार, Cette nuit il faisait froid mais Chaud थे दिल के तार, अचानक वह ऊठि – est venue près moi, मोटी...
Read More

Paris की नारी

6 Jul 2010 Quand j’étais à Paris, मुझे मिले एक नारी. Elle m’a dit «Viens avec moi”, मैंने उससे कहा loin, Il y a une autre femme, जो राह देखे मेरा हर दम, खुदा से कर बस एक द...
Read More

Ayez Confiance !

3 Jul 2010 झुको नहीं – डरो नहीं, Sourtout C’est votre envie, जो बनाये आपको सफल कभी न कभी. Si insuccès दिखाये धोंश, Ayez confiance, ayez confiance....
Read More